Home Blog Page 3391

अब Oppo करेगा स्मार्ट टीवी सेगमेंट में एंट्री, इस ब्रांड से होगा मुकाबला

0


नई दिल्लीः स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Oppo भारत में अपने स्मार्टफोन और वायरलेस ईयरबड्स के लिए पहचानी जाती है. वहीं अब कंपनी ने अपने स्मार्ट-टीवी को मोबाइल ब्रांड के बीच उतारने का फैसला किया है. कंपनी ने आधिकारिक तौर पर पुष्टि कर दी है कि वह स्मार्ट टीवी लॉन्च करने जा रही है.

चीनी कंपनी ने ओप्पो डेवलपर कॉन्फ्रेंस (ODC) 2020 के दौरान घोषणा की है कि वह चीनी बाजार के लिए ColorOS 11 और Oppo Watch ECG एडिसन को उतार सकती है. कंपनी का कहना है कि वह स्मार्ट टीवी के क्षेत्र में विस्तार कर रही है. कंपनी का कहना है कि नए स्मार्ट टीवी अगले महीने (अक्टूबर) लॉन्च हो सकते हैं.

Oppo के जनरल मैनेजर यी वेई ने अपनी अपकमिंग स्मार्ट टीवी के बारे में ज्यादा खुलासा नहीं किया है. हालांकि, उन्होंने कहा कि स्मार्ट टीवी का लॉन्च कंपनी के उपकरणों के IoT नेटवर्क के विस्तार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. कयास लगाए जा रहे हैं कि ओप्पो स्मार्ट टीवी दो स्क्रीन साइज में लॉन्च कर सकता है. इसके अन्तर्गत पहली 55 इंच और दूसरी 65 इंच की हो सकती है. ओप्पो के अपकमिंग टीवी और उनके रिमोट कंट्रोल ने हाल ही में 3 सी और ब्लूटूथ एसआईजी प्रमाणपत्र प्राप्त किए हैं.

शाओमी के Mi TV 4A और Mi TV 4A Pro से होगा मुकाबला

भारत में Oppo की अपकमिंग स्मार्ट टीवी का मुकाबला शाओमी से हो सकता है. शाओमी ब्रांड के दो स्मार्ट टीवी आपको 15 हजार से कम की रेंज में मिल जायेंगे. इस कंपनी ने Mi TV 4A ( कीमत 13500 रुपये) और Mi TV 4A Pro( कीमत 12999 रुपये) दो मॉडल निकाले हैं. इन दोनों टीवी के फीचर्स में ज्यादा अंतर नहीं है. इनकी डिस्प्ले में रिफ्रेश रेट के साथ विविड पिक्चर मोड दिया है जिसमें पिक्चर क्वालिटी अच्छी दिखती है.

दोनों टीवी में एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम है और इनमें डेटा सेवर मोड भी है. स्मार्ट टीवी में 2 यूएसबी पोर्ट और 3 एचडीएमआई पोर्ट हैं. दोनों स्मार्ट टीवी में डॉल्बी प्लस साउंड टेक्नोलॉजी है और 20वॉट का साउंड सिस्टम है. इनमें नेटफ्लिक्स, एमेजॉन प्राइम, हॉटस्टार जैसे सभी बड़े ओटीटी एप चलेंगे.

इसे भी पढ़ें

अगले महीने भारत में दस्तक दे सकता है Vivo V20, इस फोन को देगा चुनौती

Airtel के 3.7 मिलियन एक्टिव यूजर्स बढ़ें, Jio और Vodafone को छोड़ा पीछे



Source link

शुरू हो रही है इंडिया की सबसे बड़ी सेल Flipkart The Big Billion Days, पाएं बेस्ट ऑफर्स

0


Flipkart The Big Billion Days का ऐलान हो गया है.

Flipkart पर इंडिया की सबसे बड़ी सेल The Big Billion Days का ऐलान हो गया है. यहां पर मोबाइल से लेकर कई कैटेगरी के सामान पर काफी अच्छी डील दी जा रही है…

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 27, 2020, 12:14 PM IST

Flipkart की सबसे बड़ी सेल The Big Billion Days का ऐलान हो गया है. फ्लिपकार्ट पर सेल का एक माइक्रो पेज बनाया गया है, जिसपर लिखा है, ‘India’s Biggest Sale COMING SOON’. इसका मतलब साफ है कि इस फेस्टिवल कंपनी ये बड़ी सेल लाने की तैयारी में है. सेल की माइक्रो पेज से ऑफर्स की कुछ जानकारियां सामने आ गई है.

बताया गया है कि इस सेल का फायदा सबसे पहला flipkart plus मेंबर्स को मिलेगा. साथ ही इसपर Money Saving Tips भी मिलेगी. लिखा है जल्द बेहतरीन ऑफर्स पर से पर्दा उठाया जाएगा. यहां Mobile & Tablets पर काफी बड़ा ऑफर मिलने की बात कही गई है. इस कैटेगरी के सामान पर No-Cost EMI, 1 रुपये में Mobile Protection और एक्सचेंज ऑफर भी दिया जाएगा.

सेल में 80% तक की छूट पाया जा सकता है. (Photo: Flipkart)

सेल में 80% तक की छूट पाया जा सकता है. (Photo: Flipkart)

TVs & Appliancesसेल में टीवी और अप्लायंस पर 80% तक की छूट दी जा रही है. इसपर No-COST EMI, complete Appliance Protection और एक्सचेंज ऑफर भी दिया जा रहा है.

Electronics & Accessories
सेल में इलेक्ट्रॉनिक सामान पर भी 80% तक की छूट दी जा रही है. यहां पर 3 करोड़ से ज़्यादा प्रोडक्ट मिल रहे हैं, और यहां पर एक्सचेंज ऑफर दिया जा रहा है. बताया गया है कि यहा हर दिन नई डील मिलेगी.

इसपर India Ka Fashion Capital का कैटेगरी रखी गई है. इसपर 20 लाख से ज़्यादा स्टाइल मिलेगा. साथ ही यहां स्टाइल पर 99% डिस्काउंट दिया जा रहा है.





Source link

Drugs Case: फॉरेंसिक रिपोर्ट में सामने आया Karan Johar के घर वाली पार्टी का सच

0


एनसीबी को मिली फॉरेंसिक रिपोर्ट में हुआ सच से पर्दासाफ, करण जौहर के घर हुई थी पार्टी





Source link

कोरोना पॉजिटिव न्यूज़ : कई लोग छोड़ रहे हैं कश लगाना, जानें क्यों

0


CNN name, logo and all associated elements ® and © 2017 Cable News Network LP, LLLP. A Time Warner Company. All rights reserved. CNN and the CNN logo are registered marks of Cable News Network, LP LLLP, displayed with permission. Use of the CNN name and/or logo on or as part of NEWS18.com does not derogate from the intellectual property rights of Cable News Network in respect of them. © Copyright Network18 Media and Investments Ltd 2016. All rights reserved.





Source link

T-20 International: मिचेल स्टार्क की पत्नी एलिसा ने तोड़ दिया धोनी का ये ‘अनमोल रिकॉर्ड’

0


एलिसा हिली ने तोड़ा धोनी का रिकॉर्ड

T-20 International Record: पिछले साल अक्टूबर में एलिसा ने टी-20 में 148 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेल कर वूमेंस क्रिकेट में सबसे बड़े रिकॉर्ड को तोड़ा था.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 27, 2020, 12:11 PM IST

नई दिल्ली. इसमें कोई दो राय नहीं कि महेन्द्र सिंह धोनी (MS Dhoni) टी-20 और वनडे के बादशाह हैं. वनडे से लेकर टी-20 इंटरनैशनल हर जगह धोनी की धूम है. इन दोनों फॉर्मैट में धोनी के नाम दर्जनों रिकॉर्ड हैं. लेकिन ऐसा लग रहा है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद धोनी के रिकॉर्ड अब टूटने लगे हैं. धोनी का टी-20 इंटरनैशनल में सबसे ज्यादा शिकार ( Most Dismissals in T20 International) का रिकॉर्ड टूट गया है. खास बात ये है कि इस रिकॉर्ड को किसी पुरुष विकेटकीपर ने नहीं तोड़ा है बल्कि ये कारनाम एक महिला क्रिकेटर ने किया है. ये हैं ऑस्ट्रेलिया के मशहूर तेज़ गेंदबाज़ मिचेल मिचेल स्टार्क का पत्नी एलिसा हिली (Alyssa Healy).

टूट गया रिकॉर्ड
इंटरनैशनल टी-20 में धोनी ने कुल 91 शिकार किए हैं. लेकिन एलिसा हिली ने धोनी का ये रिकॉर्ड ब्रिसबैन के मैदान पर न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में तोड़ दिया. उन्होंने इस मैच में दो शिकार किए पहला स्टंपिंग और दूसरा कैच. अब एलिसा के टी-20 इंटरनैशन में कुल 92 शिकार हो गए हैं. उन्होंने 114 मैचों की 99 पारी में 50 स्टंपिंग और 42 कैच लिए हैं. जबकि धोनी के 98 मैचों की 97 पारी में 91 शिकार हैं. जिसमें उन्होंने 34 स्टंपिंग और 57 कैच लिए हैं.

ये भी पढ़ें:-शाहिद अफरीदी बोले- जब तक रहेगी मोदी की सरकार, नहीं हो सकती भारत-पाकिस्तान सीरीज़ताबड़तोड़ क्रिकेट हैं एलिसा
एलिसा हिली वैसे तो ऑस्ट्रेलिया के महान विकेटकीपर इयान हिली की भतीजी और मिचेल स्टार्क की पत्नी हैं. लेकिन उन्होंने अपने दमदार खेल से अपनी अलग पहचान बना ली है. पिछले साल अक्टूबर में एलिसा ने टी-20 में 148 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेल कर वूमेंस क्रिकेट में सबसे बड़े रिकॉर्ड को तोड़ा था. अब तक टी-20 इंटरनैशनल में उन्होंने 2099 रन बनाए हैं. जबकि उनके बल्ले से 12 हाफ सेंचुरी भी निकली है. इसके अलावा हिली वनडे में 3 शतक लगा चुकी हैं. इस साल टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में मेलबर्न के मैदान पर एलिसा ने भारत के खिलाफ सिर्फ 39 गेंदों पर 75 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली थी. एलिसा ने ही भारत के टी-20 खिताब जीतने की उम्मीदों पर पानी फेर दिया था.





Source link

IPL 2020: इस दिग्गज ने की शुभमन गिल को केकेआर का कप्तान बनाने की मांग

0



केकेआर की जीत में शुभमन गिल ने निभाई अहम भूमिका, केविन पीटरसन ने शुभमन गिल को कोलकाता नाइट राइडर्स का कप्तान बनाने की मांग की हैं



Source link

Mann Ki Baat: कोरोना, किसान और Storytelling | पढ़ें पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें

0


नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के माध्यम से देश को संबोधित किया. यह ‘मन की बात-2.0’ का 16वां भाग था. इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना काल में कई परिवर्तन दिखे. इसके साथ ही उन्होंने एक बार फिर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने पर जो दिया. उन्होंने कहा कि कोरोना काल में दो गज की दूरी जरूरी है. इसके साथ ही उन्होंने स्टोरीटेलिंग और किसानों को लेकर भी बात की.

पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना के इस कालखंड में पूरी दुनिया अनके परिवर्तनों के दौर से गुजर रही है. आज दो गज की दूरी एक अनिवार्य जरूरत बन गई है तो इस संकट काल ने परिवार के सदस्यों को आपस में जोड़ने और करीब लाने का भी काम किया है.

इस दौरान पीएम मोदी ने परिवार में कहानी सुनाने यानी स्टोरीटेलिंग की अहमियत को रेखांकित किया. उन्होंने कहा कि कहांनियां लोगों के रचनात्मक पक्ष और संवेदनशील पक्ष को सामने लाती हैं. उन्होंने कहा कि ये कहानी की ताकत है कि मां अपने छोटे बच्चे को सुलाने या खाना खिलाने के लिए कहानी सुनाती हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में कहानी सुनाने की समृद्ध परंपरा रही है. हमारे यहां कथा की परंपरा रही है. ये धार्मिक कहानियां कहने की प्राचीन पद्धति है. इसमें ‘कताकालक्षेवम्’ भी शामिल है.

प्रधानमंत्री ने मन की बात के दौरान बेंगलुरू की स्टोरीटेलिंग सोसाइटी की अपर्णा अथरे, शैलजा संपत, सौम्या श्रीनिवासन, अपर्णा जयशंकर और लावण्या प्रसाद से बातचीत की. पीएम ने उनसे स्टोरीटेलिंग के अनुभव और इसकी शुरुआत के बारे में चर्चा की. कुछ कहानियां भी सुनाई गईं. इस लंबी बातचीत को पीएम मोदी नरेंद्र मोदी एप पर शेयर करेंगे. उन्होंने लोगों से अपील की कि वे इसे जरूर सुनें.

इसके आगे पीएम मोदी लोगों से अपील की कि वे अपने घरों में कहानियों के लिए समय निकालें. ऐसा भी किया जा सकता है कि हर सप्ताह के लिए परिवार के सदस्य कोई एक विषय पर कहानी सुनाएं. ये बेहद रोचक साबित होगा. इसके विषय मानवीय पक्षों से जुड़े हो सकते हैं. इसमें गुलाम भारत के कालखंड की प्रेरक घटनाओं को भी शामिल किया जा सकता है.

वहीं किसानों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट के काल में हमारे देश के कृषि क्षेत्र ने एक बार फिर अपना दमखम दिखाया है. एसीएमसी एक्ट का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने हरियाणा के किसान कंवर चौहान का जिक्र किया. कंवर चौहान के मुताबिक, 2014 में फल और सब्जियों को एपीएमसी एक्ट से बाहर कर दिया गया. इसका उन्हें और आस पास के साथी किसानों को बहुत फायदा हुआ.

इसके साथ ही पीएम मोदी ने शहीद भगत सिंह को नमन किया. कल 28 सितंबर को उनकी जयंती है. उन्होंने राष्ट्रपति महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री को भी याद किया. भारत रत्न नानाजी देशमुख और राजमाता विजयराजे सिंधिंया के योगदान को रेखांकित किया.

नहीं रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह, पीएम मोदी और रक्षामंत्री ने शोक व्यक्त किया 



Source link

Google Doodle: गूगल आज मना रहा अपना 22वां जन्मदिन, इस अंदाज में बनाया बेहद खास डूडल

0


Google का आज 22वां जन्मदिन है.

डूडल में Google के सभी एल्फाबेट को दिखाया है, जिसमें Google के पहले अक्षर को एक लैपटॉप स्क्रीन के सामने देखा जा सकता है, जिसके चारों तरफ गिफ्ट बॉक्स, एक केक और टॉफियां बिखरी हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 27, 2020, 11:32 AM IST

दिग्गल सर्च इंजन (search engine) Google का आज बर्थ डे है. इस मौके पर गूगल खास डूडल (google doodle) के ज़रिए गूगल अपना 22वां जन्मदिन मना रहा है. गूगल ओपेन करने पर कलरफुल डूडल दिखाई दे रहा है, जिसपर क्लिक करने के बाद सर्च रिजल्ट पेज पर रीडायरेक्ट हो रहा है. Google Doodle पर टैप करने पर शेयर करने का भी ऑप्शन भी दिया गया है. यानी कि इसे फेसबुक, (Facebook) ट्विटर (Twitter) और ईमेल (Email) के जरिए शेयर भी किया जा सकता है.

डूडल में Google के सभी एल्फाबेट को दिखाया है, जिसमें Google के पहले अक्षर को एक लैपटॉप स्क्रीन के सामने देखा जा सकता है, जिसके चारों तरफ गिफ्ट बॉक्स, एक केक और टॉफियां बिखरी हैं. इसक अलावा बाकी के पांच एल्फाबेट को एक फ्रेम में दिखाया गया है.

(ये भी पढ़ें- Xiaomi फैंस के लिए खुशखबरी! 800 रुपये में घर लाएं लेटेस्ट Redmi Note 9 Pro Max)

आज गूगल दुनियाभर में सबसे बड़ा सर्च इंजन है, और ये 100 से ज्यादा भाषाओं में काम कर रहा है. Alphabet Inc, गूगल की पैरंट कंपनी है.भा रत में भी गूगल ने अपने आपको लोकल लेवल पर तैयार किया है और इसमें कई भाषाओं को जोड़ा है.(ये भी पढ़ें- इतना सस्ता हो गया Samsung का 3 कैमरे वाला बजट स्मार्टफोन, मिलेगी 5000mAh की बैटरी)

सर्च इंजन गूगल की शुरुआत साल 1998 में की गई थी. इसकी स्थापना कैलिफॉर्निया की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के दो पीएचडी छात्र लैरी पेज और सर्गी ब्रिन ने की थी. लैरी पेज और सर्गी ब्रिन ने गूगल के ऑफिशियली लॉन्च करने से पहले इसका नाम ‘Backrub’ रखा था. जानकारी के लिए बता दें कि Google शब्द  मैथ के शब्द Googol से बनाया गया है.





Source link

तन-मन स्‍वस्‍थ रखने को करें योगासन, जानें योग एक्‍सपर्ट सविता यादव से इसका सही तरीका

0


आज फेसबुक के लाइव सेशन में हमने सूर्य नमस्कार को करने का स्टेप बाई स्टेप तरीका सीखा. करीब 56 मिनट के इस लाइव योग सेशन (Live Yoga Session) में सर्वांग पुष्टि, सूर्य नमस्कार (Surya Namaskar) से लेकर कई छोटे-छोटे अभ्यासों के बारे में बताया और सिखाया गया. इन अभ्यासों को करने से न केवल पेट, कमर का फैट कम होता है, बल्कि मनुष्य स्वस्थ (Healthy) रह सकता है और उसे हर प्रकार के तनाव (Stress) से भी मुक्ति मिलती है. साथ ही इन व्यायाम को करने से शरीर का लचीलापन भी बढ़ता है और मोटापा घटता है. योग एक कला है और इसका अभ्यास धीरे-धीरे करना चाहिए. शुरुआत में इन अभ्‍यासों को पांच बार करें और बाद में अपने शरीर की क्षमता के अनुसार इसे बढ़ा सकते हैं. तो आइए स्‍वस्‍थ रहने की ओर एक कदम और बढ़ाते हुए योग करें.

सर्वांग पुष्टि आसन
सर्वांग पुष्टि आसन के लिए मैट पर दोनों पैर फैलाकर सीधे खड़े हो जाएं. मुट्ठी इस तरह बंद करें कि अंगूठा दिखाई ना दे. अब दोनों हाथों को नीचे झुकाकर बाएं टखने के पास बायां हाथ नीचे और दायां हाथ कलाई के ऊपर रखें. सांस भरते हुए धीरे-धीरे दोनों हाथों से ऊपर की ओर बाएं कन्धे के बाजू से सिर तक ले जाएं और दाएं टखने की तरफ सांस छोड़े. दाहिना हाथ नीचे और बायां हाथ ऊपर रखें. दोबारा सांस लेकर दोनों हाथों के नीचे से ऊपर दाएं कन्धे तक लाते हुए सिर के ऊपर तक ले जाएं. अब बाईं ओर मुड़ते हुए दोनों हाथों को बाएं कन्धे से नीचे की ओर बाएं टखने तक लाएं. सांस छोड़े, हाथ को बदल-बदलकर बायां नीचे और दाहिना ऊपर रखें. इसे दो बार दोहराएं. हर अंग की चर्बी घटाने के लिए करें ‘सर्वांग पुष्टि आसन’ बेहतरीन है. लेकिन जो लोग लोअर बैक पेन की समस्या से परेशान हैं वे इस आसन को ना करें.

सर्वांग पुष्टि आसन के फायदे

-फैट को कम करता है
-कमर को लचीला बनाता है
-मांसपेशियों को मजबूत बनाता है
-मोटापा कम करता है

सूर्य नमस्कार (Surya Namaskār ) : सूर्य नमस्कार को सभी योगासनों में सबसे ज्यादा पावरफुल माना जाता है. सूर्य नमस्कार ऐसा योग है जो आपको शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रखता है. पर सूर्य नमस्कार को करने का सही तरीका बहुत कम लोग जानते हैं.

प्रणाम आसन: इस आसन को करने के लिए सबसे पहले अपने दोनों पंजे जोड़कर अपने आसन मैट के किनारे पर खड़े हो जाएं. फिर दोनों हाथों को कंधे के समान्तर उठाएं और पूरा वजन दोनों पैरों पर समान रूप से डालें. दोनों हथेलियों के पृष्ठभाग एक दूसरे से चिपकाए रहें और नमस्कार की मुद्रा में खड़े हो जाएं.
हस्ततुन्नासन: इस आसन को करने के लिए गहरी सांस भरें और दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं. अब हाथ और कमर को झुकाते हुए दोनों भुजाओं और गर्दन को भी पीछे की ओर झुकाएं.
हस्तपाद आसन: इस आसन में बाहर की तरफ सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे आगे की तरफ नीचे की ओर झुकें. अपने दोनों हाथों को कानों के पास से घुमाते हुए ज़मीन को छूएं.
अश्व संचालन आसन: इस आसन में अपनी हथेलियों को ज़मीन पर रखें, सांस लेते हुए दाएं पैर को पीछे की तरफ ले जाएं और बाएं पैर को घुटने की तरफ से मोड़ते हुए ऊपर रखें. गर्दन को ऊपर की तरफ उठाएं और कुछ देर इसी स्थिती में रहें.
पर्वत आसन: इस आसने को करने के दौरान सांस लेते हुए बाएं पैर को पीछे ले जाएं और पूरे शरीर को सीधी रेखा में रखें और अपने हाथ ज़मीन पर सीधे रखें.
अष्टांग नमस्कार: इस आसन को करते वक्त अपने दोनों घुटने ज़मीन पर टिकाएं और सांस छोड़ें. अपने कूल्हों को पीछे ऊपर की ओर उठाएं और अपनी छाती और ठुड्डी को ज़मीन से छुआएं और कुछ देर इसी स्थिति में रहें.
भुजंग आसन: इस आसन को करते वक्त धीरे-धीरे अपनी सांस छोड़ते हुए छाती को आगे की और ले जाएं. हाथों को ज़मीन पर सीधा रखें. गर्दन पीछे की ओर झुकाएं और दोनों पंजों को सीधा खड़ा रखें.

इसे भी पढ़ें – कंधे को मजबूत बनाएंगे ये योगासन, पीठ और कमर दर्द भी होगा दूर

सूर्य नमस्कार के फायदे
सूर्य नमस्कार करने से स्ट्रेस दूर होता है, बॉडी डिटॉक्स होती है और मोटापा घटता है. जिन महिलाओं को मासिक धर्म की समस्या है यह उनके लिए काफी लाभकारी होता है. रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है.

ये लोग सूर्य नमस्कार न करें
गर्भवती महिलाएं सूर्य नमस्कार ना करें
उच्च रक्ताचाप के मरीजों को सूर्य नमस्कार ना करें.
अगर आपको पीठ का दर्द रहता है तो सूर्य नमस्कार करने से पहले स्पेशलिस्ट की सलाह लें.
महिलाएं पीरियड के दौरान सूर्य नमस्कार ना करें.

नौकासन: इस योगासन को करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं. अब अपने दोनों पैरों को एक साथ जोड़ लें और अपने दोनों हाथों को भी शरीर के साथ लगा लें. इसके बाद एक गहरी सांस लें और सांस छोड़ते हुए अपने दोनों हाथों को पैरों कि ओर खींचते हुए अपने पैरों के साथ अपनी छाती को उठाएं. अब एक लंबी और गहरी सांसे लेते हुए आसन को बनाए रखें और फिर सांस छोड़ते हुए विश्राम करें.

नौकासन के फायदे
इस आसन को करने से आपका पाचन तंत्र मजबूत होता है. साथ ही यह पाचन संबंधित रोग जैसे कब्ज, एसिडिटी, गैस आदि से छुटकारा दिलाने में मदद करता है.

इसे भी पढ़ें – सर्वांग पुष्टि आसन से शरीर रहेगा निरोग, योग एक्सपर्ट सविता यादव से सीखें योग

शशकासन
शशकासन को करते वक्त व्यक्ति की खरगोश जैसी आकृति बन जाती है इसीलिए इसे शशकासन कहते हैं. इसे करने के लिए सबसे पहले बैठ जाएं. अब अपने दोनों हाथों को श्वास भरते हुए ऊपर उठा लें. इसके बाद सामने की ओर झुकते हुए दोनों हाथों को आगे समानांतर फैलाते हुए हथेलियां को जमीन पर टिका दें. इसके बाद अपना माथा भी जमीन पर टिका दें.

शशकासन के फायदे
यह आसन पेट, कमर और हिप के फैट को कम करके आंत, यकृत और गुर्दों को मजबूती देता है. इस आसन के नियमित अभ्यास से तनाव, क्रोध, चिड़चिड़ापन आदि भी दूर होते हैं. इस आसन को करने से मन भी शांत रहता है. अगर पेट या सिर संबंधी कोई समस्या हो तो इस आसन को न करें.

शवासन
मैट पर पीठ के बल सीधे लेट जाएं और आंखें मूंद लीजिए. पैरों को आराम की मुद्रा में हल्का खोल कर रखें. पैर के तलवे और उंगलियां ऊपर की तरफ होनी चाहिए. हाथों को बगल में रखकर हथेलियों को ऊपर की तरफ खोलकर रखें. पैर से लेकर शरीर के हर भाग पर ध्यान केंद्रित करते हुए धीरे-धीरे सांस अन्दर बाहर करें. धीरे धीरे इसे कम करें. जब शरीर में राहत महसूस हो तो आंखों को बंद करके ही थोड़ी देर उसी मुद्रा में आराम करें.





Source link

IPL KKR VS SRH: धमाकेदार पारी के बाद बोले शुभमन गिल- पिछले कुछ साल से ‘पावर हिटिंग’ की प्रैक्टिस कर रहा था

0


शुभमन गिल (फोटो-@RealShubmanGill)

IPL KKR VS SRH: केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक ने भी गिल की तारीफ करते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि यह युवा बल्लेबाज इसी तरह दबाव के बिना खेले.

अबूधाबी.  सनराइजर्स हैदराबाद (Sunriser) के खिलाफ 62 गेंद में नाबाद 70 रन बनाने वाले कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के युवा बल्लेबाज शुभमन गिल (Shubman Gill) ने कहा कि पिछले कुछ साल में उन्होंने ‘पावर हिटिंग’ का काफी अभ्यास किया है और सलामी बल्लेबाज होने के नाते उनका काम टीम को जीत तक ले जाना था. केकेआर ने दो ओवर बाकी रहते सनराइजर्स को सात विकेट से हराकर इस सत्र में पहली जीत दर्ज की.

बैटिंग करना आसान नहीं था
मैन आफ द मैच गिल ने मैच के बाद कहा ,‘ गेंद ज्यादा स्पिन नहीं ले रही थी और बल्लेबाजी आसान थी. मैने पिछले कुछ साल में पावर हिटिंग का काफी अभ्यास किया है .हमारी टीम के लिये यह जीत बहुत जरूरी थी. हमने अच्छी गेंदबाजी की और उसके बाद बल्लेबाजों की बारी थी .’ ऑयन मॉर्गन के साथ 92 रन की नाबाद साझेदारी के बारे में उन्होंने कहा ,‘मोर्गन बहुत अच्छा खेल रहे थे . हमने लंबी बातचीत नहीं की . सलामी बल्लेबाज होने के नाते मेरा काम टीम को जीत तक ले जाना था .’

क्या कहा मॉर्गन ने?वहीं मॉर्गन ने कहा ,‘पहली जीत से लय और आत्मविश्वास लौटा . मुझे गिल को कुछ बताना नहीं पड़ा . उसकी बल्लेबाजी देखने में मजा आया और अपनी कामयाबी के बावजूद वह सीखने को बेताब रहता है . वह शानदार खिलाड़ी है .’

कार्तिक  ने की गिल की तारीफ
केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक ने भी गिल की तारीफ करते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि यह युवा बल्लेबाज इसी तरह दबाव के बिना खेले. उन्होंने कहा ,‘ मैं चाहता हूं कि गिल पर कोई दबाव नहीं रहे .मैकुलम (कोच ब्रेंडन मैकुलम) इसे लेकर स्पष्ट हैं कि सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज शीर्षक्रम पर बल्लेबाजी करेंगे. मुझे कुछ रन बनाने होंगे . मुझे लगता है कि हमारी टीम को कई हरफनमौला होने का फायदा मिला है. ’





Source link