Happy Birthday GG: भारत को 2 बार विश्व चैंपियन बनाया, करियर ढलान पर आते ही पकड़ ली राजनीति की डोर

0
7


नई दिल्ली. भारत ने क्रिकेट के जो तीन विश्व कप जीते हैं, उनमें से दो में टॉप स्कोरर एक ही खिलाड़ी रहा. चाहे 2007 का पहला टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2007) हो या 2011 का वनडे वर्ल्ड कप (World Cup 2011)… दोनों ही बार भारत को ट्रॉफी दिलाने में इस क्रिकेटर ने बड़ी भूमिका निभाई. यह अलग बात है कि टॉप स्कोरर होकर भी यह खिलाड़ी ना तो जीत का श्रेय ले पाया और ना ही ‘प्लेयर ऑफ द अवॉर्ड’. एकदम सही पहचाना. हम बात कर रहे हैं गौतम गंभीर (Happy Birthday Gautam Gambhir) की, जो आज जन्मदिन मना रहे हैं. गौतम गंभीर को क्रिकेट जगत में बड़े मैचों का खिलाड़ी माना गया. हालांकि, बड़े-बड़े कमाल करने वाले इस खिलाड़ी का क्रिकेट करियर निराशाजनक अंदाज में खत्म हुआ. वे टीम इंडिया में वापसी की राह तकते-तकते आईपीएल की टीम से भी बाहर हो गए. क्रिकेट करियर खत्म होने पर गौतम ने राजनीति की डोर पकड़ ली और अब वे सांसद हैं.

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) 14 अक्टूबर को 41वां जन्मदिन मना रहे हैं. इस खिलाड़ी ने भारत के लिए जब भी कप्तानी की तो टीम को जीत ही मिली. कोलकाता नाइटराइडर्स को भी उन्होंने बतौर कप्तान दो बार खिताब दिलाए. टी20 वर्ल्ड कप 2021 (T20 World Cup 2021) के मुकाबले 17 अक्टूबर से शुरू होने हैं. ऐसे में फैंस को गंभीर की टी20 वर्ल्ड कप 2007 के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई शानदार पारी जरूर याद आ रही होगी. गंभीर ने तब 54 गेंद पर 75 रन बनाए थे. टीम का अन्य कोई बल्लेबाज 40 रन के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच सका था. भारत ने पहले खेलते हुए 5 विकेट पर 157 रन बनाए थे. जवाब में पाकिस्तान की टीम 152 रन बनाकर आउट हो गई थी. गंभीर ने टूर्नामेंट में भारत की ओर से सबसे अधिक 227 रन बनाए थे.

जब सचिन-सहवाग फाइनल में हुए फेल
गौतम गंभीर ने 2011 वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में भी यादगार पारी खेली थी. श्रीलंका ने इस मैच में पहले खेलते हुए 6 विकेट पर 274 रन बनाए. जवाब में वीरेंद्र सहवाग सहवाग शून्य और सचिन तेंदुलकर सिर्फ 18 रन ही बनाकर पैवेलियन लौट गए. गौतम गंभीर ने 97 रन की पारी खेलकर टीम को जीत की राह पर मजबूती से आगे बढ़ाया. हालांकि, ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड कप्तान एमएस धोनी (91 नाबाद) के नाम रहा, लेकिन आज भी ऐसे बहुत लोग मिल जाएंगे जो मानते हैं कि गंभीर ही इस मैच के असली हीरो थे.

केकेआर को भी 2 बार चैंपियन बनाया
गौतम गंभीर को हालांकि टीम इंडिया की ओर से अधिक कप्तानी करने का मौका नहीं मिला. लेकिन आईपीएल में उन्होंने अपनी कप्तानी का लोहा मनवाया. उनकी कप्तानी में केकेआर (KKR) ने 2 बार आईपीएल का खिताब जीता था. इसके अलावा केकेआर की टीम कभी भी खिताब जीतने में सफल नहीं रही है. गंभीर ने आईपीएल में 150 से अधिक मैच खेले और 4 हजार से अधिक रन बनाए.

1999 में फर्स्ट क्लास और 2019 में राजनीति…
गौतम गंभीर के फर्स्ट क्लास करियर की शुरुआत 1999 में हुई. इसके करीब 20 साल बाद उन्होंने क्रिेकट को अलविदा कहा और राजनीति में करियर बना लिया. गंभीर ने दिसंबर 2018 में क्रिकेट को अलविदा कहने से पहले 56 टेस्ट में 4154 रन, 147 वनडे में 5238 और 37 टी20 में 932 रन बनाए. टेस्ट में उन्होंने 9 और वनडे में 11 शतक लगाया. फर्स्ट क्लास में उनके नाम 43 रन था. उन्होंने फर्स्ट क्लास में 15 हजार और लिस्ट ए क्रिकेट में 10 हजार से अधिक रन बनाए. वे टेस्ट में लगातार 11 पारियों में 50 से अधिक रन बनाने वाले पहले भारतीय बने थे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here