अगर मास्क पहनने से होता हो कान और सिर दर्द, इन तरीकों को अपनाने से मिलेगा आराम

0
13


Mask Causing Headache: कोविड-19 ने मास्क (Mask) को हमारे जीवन का अहम (Important) हिस्सा बना दिया है. भले ही आपने वैक्सिनेशन करवा लिया हो, फिर भी अपनी सुरक्षा (Safety) के लिए मास्क पहनना ज़रूरी है. क्योंकि वैक्सीन आपको कोरोना वायरस के संक्रमण के गंभीर असर से तो बचा सकती है. लेकिन संक्रमित होने से आपको केवल मास्क, हैंड वाश और सोशल डिस्टेंसिंग ही बचा सकते हैं. इसलिए मास्क पहनना बेहद ज़रूरी हो जाता है.

वैसे देखा जाये तो अपनी सुरक्षा के लिए लोग मास्क लगाते भी हैं. लेकिन रोज़ाना लम्बे समय तक मास्क पहनने की वजह से, बहुत लोगों को कानों, कर्णपटी और सिर में दर्द की शिकायत हो जाती है. जो उनको काफी परेशान करती है. अगर आपको भी ये दिक्कत तंग कर रही है, तो आइये आपको इसकी वजह और इस दिक्कत से निजात पाने का तरीका बताते हैं.

ये भी पढ़ें: डबल मास्क पहनने से त्वचा पर हो रहे हैं रैशेज तो ऐसे रखें ख्याल

इसलिए होता है सिर और कान में दर्द

कोरोना वायरस से सुरक्षा के चलते केवल मास्क लगा लेना ही काफी नहीं है. मास्क अच्छी तरह से लगा होना और फिट होना भी जरूरी है. इसी के चलते जब लोग लम्बे समय तक फिट मास्क लगाए रहते हैं. तो इससे कर्णपटी यानी अधोहनु जोड़ में दर्द होने लगता है. जो आपके निचले जबड़े को आपकी खोपड़ी के बाकी हिस्सों से जोड़ता है. इसकी वजह से उन मसल्स और टिशूज़ में भी जलन पैदा होती है, जो आपके जबड़े को हिलने-डुलने में मदद करते हैं. इसकी वजह से जबड़े को प्रभावित करने वाली नसों में दर्द शुरू होता है, जिससे सिरदर्द महसूस होने लगता है.

इस तरह से पाएं निजात

 कान, कर्णपटी और सिर दर्द की दिक्कत से बचने के लिए आप इस तरह का मास्क न पहने, जो कान के पीछे टाइट हो. मास्क ज़्यादा कसा होने की वजह से आपके कान पर ज़ोर पड़ेगा जो कि नसों को दिक्कत दे सकता है.

जब मास्क लगाएं तो अपने जबड़े और दांतों की पोज़ीशन पर ध्यान दें. टेंशन आपके जबड़े की मसल्स और दांतों को जकड़ सकती है. इसलिए हमेशा अपने दांत और जबड़ा रिलेक्स्ड पोज़ीशन में रखें.

आप ऐसा मास्क लगाएं जिनको डोरी की सहायता से बांधा जा सकता हो. जिससे आप अपने कम्फर्ट के अनुसार इसको एडजस्ट कर सकें.

ये भी पढ़ें: जानें क्या है लिप मास्क और क्या हैं इसके फायदे और नुकसान

कुछ-कुछ देर में अपनी गर्दन को स्ट्रेच करने के लिए एक्सरसाइज़ भी करते रहें.

दर्द और परेशानी से बचने के लिए रोज़ाना अपने गालों और कनपटी की मालिश करें.

रोज़ाना कुछ देर मेडिटेशन जरूर करें. साथ ही मेडिटेशन एंड रिलेक्सेशन टेक्निक्स की प्रैक्टिस करते रहें. जबड़े की एक्सरसाइज़ करना भी आपके लिए बेहतर होगा.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here