IPL में 23 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज को एनरिक नॉर्किया ने बताया भविष्य का सुपरस्टार

0
7


विमल कुमार

नई दिल्ली. दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के तेज गेंदबाज एनरिक नॉर्किया (Anrich Nortje) ने अपनी रफ्तार से इस सीजन भले ही किसी को नहीं चौंकाया हो लेकिन जिस सधे हुए अंदाज में उन्होंने दिग्गज बल्लेबाजों का रन बनाने से रोका है वो हैरान करने वाला रहा है. लेकिन, उससे भी ज्यादा हैरान करने वाली बात ये है कि नॉर्किया ने दिल्ली के ड्रेसिंग रुम में हिंदी भी सीखनी शुरू कर दी है और उनका सबसे पसंदीदा शब्द ‘शुक्रिया’ है. इस शब्द के चलते नॉर्किया कई परेशानियों से बच जाते हैं.

नॉर्किया के नाम का उच्चारण हर किसी के बस में नहीं!
न्यूज 18 हिंदी ने जब नॉर्किया से पूछा कि क्या साथी खिलाड़ी उनके नाम का उच्चारण ठीक से कर पा रहे हैं? 27 साल के नॉर्किया ने इस सवाल पर हंसते हुए कहा, “ हाहा, हां ये मानता हूं कि मेरे नाम का एकदम सही उच्चारण करना सबके लिए संभव नहीं है लेकिन इससे क्या फर्क पड़ता है. मुझे जरा भी परेशानी नहीं है लेकिन इतना जरूर कहूंगा कि मेरे दोस्तों ने मुझे सही तरीके से पुकारने का रास्ता ढूंढ ही लिया है”

छोटे शहर का एक बड़ा गेंदबाज़
दक्षिण अफ्रीका के इस उभरते हुए तेज गेंदबाज की कहानी क्रिकेट के मैदान के बाहर भी काफी दिलचस्प है. पोर्ट एलिजाबेथ से दूर एक छोटे से कस्बे से आने वाले नॉर्किया के हीरो डेल स्टेन थे जो खुद छोटे शहर से आते थे और उन्हें भरोसा दिया कि वो भी कमाल कर सकते हैं. वैसे, ब्रेट ली की रफ्तार ने भी नॉर्किया को बचपन में काफी प्रभावित किया. इस साल के शुरुआत में जब आईपीएल का आयोजन हुआ तो पहले 7 मैचों में नॉर्किया को एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला लेकिन जैसे ही 144 दिनों के बाद संयुक्त अरब अमीरात में दोबारा आईपीएल शुरु हुआ तो नॉर्किया को नजरअंदाज करना मुश्किल था. इस गेंदबाज ने यूएई में ही पिछले सीजन तहलका मचाते हुए 22 विकेट झटके थे.

इस सीजन में नॉर्किया और खतरनाक हो गये हैं क्योंकि भले ही उन्होंने 7 मैचों में सिर्फ 10 विकेट लिए हो लेकिन उनका इकॉनोमी रेट 5.93 का है. उनका इकॉनामी रेट यह 10 या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में सबसे किफायती है. पिछले सीजन नॉर्किया ने 8.39 रन प्रति ओवर खर्च किये थे तो अचानक ऐसा बदलाव आया कैसे? इस सवाल पर नॉर्किया कहते हैं, ”हकीकत बयां करूं तो वाकई में मैंने कुछ विशेष बदलाव नहीं किये. देखिये, भले ही आपके पास 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकने की काबिलियत हो लेकिन तब भी आपकी पिटाई हो सकती है. आपको हमेशा बुनियादी बातों का ख्याल रखना पड़ता है जिससे कि आप भटके नहीं,” नॉर्किया ने इस साल दिल्ली कैपिटल्स को प्लेऑफ तक ले जाने में अहम किरदार निभाया है.
टेस्ट क्रिकेट ही है कौशल की असली चुनौती
नई पीढ़ी के क्रिकेटर को भले ही टी20 फॉर्मेट पंसद हैं जहां पर कम मेहनत से नाम भी जल्दी कमाया जा सकता है और पैसे भी. लेकिन, नॉर्किया के लिए उनके करियर में प्राथमिकता टेस्ट क्रिकेट ही है. 47 टेस्ट विकेट झटक चुके इस अफ्रीकी गेंदबाज का कहना है, ”टी20 से निश्चित तौर पर युवा तेज गेंदबाजों को पूरी दुनिया में बहुत मौके मिले हैं जहां सिर्फ 4 ओवर की गेंदबाजी करके काफी कुछ हासिल किया जा सकता है लेकिन मेरे लिए तो सबसे मजेदार लाल गेंद की क्रिकेट ही है. यहां आपको काफी संतुलित बने रहना पड़ता है और वो भी लंबे समय के लिए. हर दूसरे दिन अपनी ऊर्जा को खर्च करने का तरीका भी अलग होता है”

भारत के साथ नॉर्किया का एक खास नाता
नॉर्किया ये मानते हैं कि भारत के साथ उनका एक खास नाता है क्योंकि पहली बार वो दक्षिण अफ्रीका ए टीम के साथ उन्होंने 2018-2019 के दौरे पर 24 विकेट लिए और सुर्खियां बटोंरी. इस दौरे को याद करते हुए नॉर्किया कहते हैं, “भारतीय पिचों के बारे में मैनें काफी कुछ सुन रखा था कि ये तेज गेंदबाजों के लिए कितने कठिन होते हैं लेकिन सच्चाई कहूं तो उस दौरे पर मुझे हरी पिचों पर गेंदबाजी करने का मौका मिला था. लेकिन मुझे भारत दौरे से काफी कुछ सीखने को मिला था.”

इत्तेफाक से इस गेंदबाज ने अपना पहला टेस्ट भी भारत के ही खिलाफ ही पुणे में खेला था. क्रिकेट के मैदान के बाहर भी नॉर्किया एक बेहतरीन स्टूडेंट रहे हैं. उन्होंने नेल्सन मंडेला यूनिवर्सिटी से फाइनेंशियल प्लानिंग का कोर्स भी किया हुआ है. नॉर्किया अपनी पढ़ाई के बारे में कहते हैं, “जब मैं चोटिल था तो मैनें इस समय का उपयोग अपनी पढ़ाई पूरा करने में लगाया. मैंने कोई नौकरी नहीं कि है क्योंकि क्रिकेट हमेशा से मेरी सबसे बड़ी प्राथमिकता रही है.”

क्रिकेट के मैदान पर जब प्राथमिकता का सवाल उठाते हुए जब नॉर्किया से ये पूछा कि आप विराट कोहली या क्रिस गेल का विकेट 10 रनों के भीतर लेना चाहेंगे या फिर इस बात पर खुश होंगे कि वो आपकी गेंदों पर धीमे स्ट्राइक रेट से ही रन बना रहे हों? अगर ऐसा किसी टी20 मुकाबले में होता है तो उनकी रणनीति क्या रहेगी? नॉर्किया ने कहा, “ देखिये, ये तो उस बात पर निर्भर करेगा कि पिच कैसी है और मैच के हालात कैसे हैं. लेकिन, किसी भी मशहूर नाम को जल्दी से जल्दी पवेलियन वापस भेजना ही हमेशा सबसे पहली पसंद होगी.”

आवेश खान के फैन हैं नॉर्किया
इस सीजन में नॉर्किया के साथी गेंदबाज आवेश खान ने अब तक 23 विकेट लिए हैं जो हर्षल पटेल (32) के बाद सबसे ज्यादा है. आवेश की गेंदबाजी पर नॉर्किया कहते हैं, “आवेश ने अब तक क्या शानदार गेंदबाजी की है. उनकी रफ्तार, बाउंसर, यार्कर और गेंदबाजी में हर तरह की विविधता बेहद खास है. निश्चित तौर पर वो भारत के लिए भविष्य के स्टार हैं.” नॉर्किया ने उम्मीद जतायी कि इस बार दिल्ली कैपिटल्स की टीम ख़िताब जीतने का सपना पूरा करेगी जो पूरी टीम का एक सामूहिक लक्ष्य है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here