पीएम मोदी आज लॉन्च करेंगे ‘पीएम गतिशक्ति मिशन’, नए एग्जिबिशन कॉम्प्लेक्स का लोकार्पण भी करेंगे

0
8


नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पीएम गतिशक्ति मिशन को लॉंच करेंगे. पीएम गतिशक्ति दरअसल बड़े इंफ़्रास्ट्रकचर प्रॉजेक्ट्स में आने वाली डिपार्टमेंटल कठिनाइयों को दूर करेगा. इसके तहत एक सेंट्रल पोर्टल बनेगा जिसके माध्यम से सभी विभाग एक दूसरे के प्रॉजेक्ट्स की पूरी जानकारी ले सकेंगे. इस मिशन के तहत यात्रियों और समानों के साथ सेवाओं की कनेक्टिविटी में भी निरंतरता लाई जाएगी. पीएम गतिशक्ति को ‘नेशनल मास्टर प्लान फ़ॉर मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी भी कहा जाता है.’

प्रधानमंत्री का कार्यक्रम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह 11 बजे दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित हाल नम्बर 5 में फ़ोटो एग्जिबिशन में पहुँचेंगे. कुछ ही मिनट बाद मंच पर पहुँच कर प्रधानमंत्री मोदी प्रगति मैदान में बन रहे इंटरनेशनल एग्जिबिशन-कम-कन्वेंशन सेंटर (IECC) के न्यू एग्जिबिशन कॉम्प्लेक्स ( हॉल न. 2,3,4,5) का लोकार्पण करेंगे. इसके बाद प्रगति मैदान में हो रहे कार्यों पर एक लघु फ़िल्म दिखाई जाएगी. 

इसके तुरंत बाद प्रधानमंत्री मोदी ‘पीएम गतिशक्ति’ को लॉंच करेंगे. इससे जुड़ी एक लघु फ़िल्म की स्क्रीनिंग होगी. इसके बाद चार उद्योगपति 3-3 मिनट में पीएम गतिशक्ति पर अपनी प्रतिक्रिया और फ़ीड बैक देंगे. कुमार मंगलम बिड़ला, मल्लिका श्रीनिवासन, टीवी नरेन्द्र और दीपक गर्ग को इन उद्योगपतियों में शामिल किया गया है. सुबह 11:35 बजे प्रधानमंत्री मोदी अपना सम्बोधन भाषण देंगे. 

कार्यक्रम में 6 केंद्रीय मंत्री भी उपस्थित होंगे 
पीएम गतिशक्ति लोकार्पण के मौक़े पर नेशनल कनेक्टिविटी से जुड़े 6 केंद्रीय मंत्री भी होंगे जिनमें रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय शिपिंग मंत्री सर्बानंद सोनेवाल, केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह और केंद्रीय टेक्स्वाटाईल, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल शामिल होंगे. 

पीएम गतिशक्ति के फ़ायदे 
पीएम गतिशक्ति देश में सरकारी विभागों में तालमेल की कमी को पूरा करेगा. पीएम गतिशक्ति इस बात को सुनिश्चित करेगा क़ि पहले की तरह ये न होने पाए कि सड़क बनने के बाद बिजली विभाग अपना केबल डालने के लिए इस सड़क को खोद कर चला जाए. अब किसी भी इंफ़्रास्ट्रकचर से जुड़े प्रॉजेक्ट में सभी सम्बंधित विभागों की एक साथ एक ही समय पर भागीदारी होगी. 

पीएम गतिशक्ति के तहत तुरंत निर्णय लिए जाएँगे. विभिन्न प्रकार की अप्रूवल में देरी नहीं होने पाएगी. सभी विभागों को  अपनी भविष्य की योजनाएँ और उनकी डिज़ाइन आदि साझा करनी होंगी और आपसी तालमेल कोई चूक न हो इसका ख़्याल रखना होगा. 

पीएम गतिशक्ति इन 6 बातों पर टिका होगा
व्यापकता- सभी सम्बंधित मंत्री और विभाग अपनी योजनाओं को विस्तार से सेंट्रल पोर्टल के माध्यम से साझा करेंगे 

वरीयता- सभी विभाग अपनी वरीयताओं को साझा करेंगे 

अनुकूलन- इसके अंतर्गत नेशनल मास्टर प्लान के अनुसार इस बात का ध्यान रखना होगा कि कनेक्टिविटी में गैप न आए और सबसे सुविधा जनक तरीक़ा या रास्ता अख़्तियार किया जा सके. 

सिंक्रोनाईजेशन- पीएम गतिशक्ति में इस बात पर ज़ोर दिया जाएगा की सभी मंत्री और विभाग एक दूसरे की ज़रूरतों और दिक़्क़तों का ख़्याल रखते हुए कार्य करें. 

एनालिटिकल- पीएम गतिशक्ति का एक बड़ा फ़ायदा ये भी होगा कि सभी प्रॉजेक्ट्स के लिए दो सौ से ज़्यादा प्रकार के डेटा सभी विभागों के साथ साझा किए जाएँगे जिनका अध्ययन हर विभाग अपने लाभ-हानि और मदद कर सकने की मंशा से कर सकेगा. 

डायनमिक- सभी मंत्री और विभाग जीआईएस आधारित प्लेटफार्म के माध्यम से देश की किसी भी इंफ़्रास्ट्रकचर प्रॉजेक्ट को रियल टाईम में देख सकेंगे जिससे काम में तेजी बनी रहेगी.

ये भी पढ़ें

Coal Crisis: पीएम मोदी ने बिजली और कोयला मंत्री के साथ की बैठक, एक हफ़्ते में हालात सुधरने की उम्मीद

CNG-PNG Price Hike: महंगाई का एक और झटका! 13 दिन में दूसरी बार बढ़े CNG और PNG के दाम



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here