IND vs ENG: गावस्कर ने ढूंढ़ ली कोहली की बैटिंग की कमजोरी, दूर करने का तरीका भी बताया

0
37

[ad_1]

नई दिल्ली. विराट कोहली (Virat Kohli) को शतक लगाए दो साल होने को हैं. अब तो उनके शतक का इंतजार सचिन तेंदुलकर के सौवें शतक से भी ज्यादा हो गया है. ऐसा नहीं है कि विराट ने इन दो साल में अच्छी पारियां नहीं खेलीं हैं. बिलकुल खेली हैं, लेकिन वे अपनी अच्छी शुरुआत को शतक में तब्दील नहीं कर पा रहे हैं. आखिर ऐसा क्यों हो रहा है? अपने जमाने के दिग्गज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने विराट की बैटिंग में आई इस कमी को पहचान लिया है. उन्होंने ना सिर्फ इसकी वजह बताई, बल्कि इसे दूर करने का तरीका भी बताया है.

पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर इन दिनों ‘सोनी टेन’ के लिए कॉमेंट्री कर रहे हैं. उन्होंने इसी चैनल पर कोहली की बैटिंग पर विस्तार से बात की. गावस्कर ने कहा कि कई लोग कोहली के ऑफ स्टंप की लाइन में खड़े होने या उनके क्रीज से आगे खड़े होने को उनके आउट होने की वजह बता रहे हैं, जो ठीक नहीं लगती. कोहली ने इसी लाइन पर खेलते हुए हजारों रन बनाए हैं, जो ऐसी आलोचना को खारिज करती है.

गावस्कर ने इसके बाद कोहली की बैटिंग की उस कमजोरी की बात की, जो हालिया समय में बार-बार उनके आउट होने की वजह बनी है. गावस्कर ने कहा, ‘कोहली गेंद को करीब आने देने की बजाय उस तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं. वे बार-बार गेंद को दूर से खेल रहे हैं. अपने बैट को गेंद की ओर दूर धकेल रहे हैं. इसी कारण गेंद बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर या स्लिप के फील्डर के पास जा रही है और वे अच्छी शुरुआत के बावजूद आउट हो रहे हैं.

पूर्व कप्तान ने कहा, ‘ विराट कोहली की खूबी गेंद को शरीर के करीब से खेलना रही है. उन्होंने ज्यादातर रन इसी तरीके से बनाए हैं. अगर आप अपनी स्टाइल में खेलते हुए आउट हो जाते हैं तो भी कोई बुराई नहीं है. कोई भी बल्लेबाज शॉट खेलता है और मिस भी करता है. लेकिन दूर की गेंद को छेड़ककर आउट होना तो कमी मानी जाएगी और इसे दूर करना जरूरी है. उनके लिए यही बेहतर होगा कि वे दूर की गेंद को छोड़ते रहें.’

विराट कोहली इंग्लैंड दौरे (India vs England) पर पांच पारियों में सिर्फ एक अर्धशतक बना सके हैं. वे 42 और 20 रन बनाकर भी आउट हुए हैं, जो टेस्ट मैचों में अच्छी शुरुआत को गंवाने जैसा है. शतक की बात करें तो कोहली ने आखिरी शतक नवंबर 2019 में लगाया था. यानी, वे करीब 21 महीने से 100 रन के आंकड़े से दूर हैं. बता दें कि शतकों के शहंशाह सचिन तेंदुलकर को भी कई बार 100 रन के आंकड़े ने खूब तरसाया है. उन्हें 99वें से 100वें शतक तक पहुंचने में ही एक साल से अधिक का वक्त लगा गया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here