IND vs ENG: ओवल में स्पिनर ने 16 विकेट लेकर इंग्लैंड को दी बड़ी शिकस्त, अब टीम इंडिया की बारी

0
71

[ad_1]

ओवल. विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी में टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज में अच्छी शुरुआत की थी. लेकिन तीसरे टेस्ट (IND vs ENG) में मिली पारी की हार ने टीम पर सवाल खड़े कर दिए हैं. 5 मैचों की सीरीज अभी 1-1 से बराबर है. सीरीज का चौथा मैच 2 सितंबर से ओवल मैदान पर खेला जाना है. यहां की पिच स्पिन गेंदबाजों के अनुकूल मानी जाती है. श्रीलंका के पूर्व दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन (Muthiah Muralidaran) ने यहां एक मैच में 16 विकेट लिए थे. यह इस मैदान पर किसी गेंदबाज का एक मैच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है. ऐसे में टीम इंडिया इस कारनामे के दम पर वापसी करना चाहेगी.

ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने 1998 में खेले गए मुकाबले में पहली पारी में 7 जबकि दूसरी पारी में 9 विकेट लिए थे. इंग्लैंड ने पहली पारी में 445 रन का स्कोर बनाया था. जवाब में श्रीलंका ने 591 रन का विशाल स्कोर बना लिया था. इंग्लिश टीम दूसरी पारी में सिर्फ 181 रन बनाकर सिमट गई. मुरलीधरन ने दूसरी पारी में 54.2 ओवर में 27 मेडन के साथ सिर्फ 65 रन दिए और 9 विकेट झटक लिए. इस तरह से श्रीलंका को 36 रन का लक्ष्य मिला था. उसने बिना विकेट के लक्ष्य हासिल करते हुए यह मुकाबला 10 विकेट से जीता था.

अश्विन 100 विकेट लेने सिर्फ 12 कदम दूर

इंग्लैंड के खिलाफ सबसे सफल भारतीय स्पिन गेंदबाजों की बात करें तो भागवत चंद्रशेखर टॉप पर हैं. उन्होंने 23 मैच में 95 विकेट लिए. 8 बार 5 विकेट झटके. वहीं पूर्व कप्तान व लेग स्पिनर अनिल कुंबले ने 19 टेस्ट में 92 विकेट लिए हैं. 4 बार 5 और एक बार 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया है. आर अश्विन 88 विकेट के साथ तीसरे नंबर पर हैं. उन्होंने 19 मैच में 6 बार 5 और एक बार 10 विकेट झटके हैं. अश्विन को अब तक तीनों टेस्ट में मौका नहीं मिला है. लेकिन रिकॉर्ड को देखते हुए उन्हें शामिल किया जाना तय है. बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज रवींद्र जडेजा भी इंग्लैंड के खिलाफ 14 टेस्ट में 47 विकेट ले चुके हैं.

यह भी पढ़ें: IND vs ENG: अजिंक्य रहाणे से छिन सकती है उपकप्तानी! सबसे सफल कप्तान को मिल सकती है जिम्मेदारी

यह भी पढ़ें: कायरन पोलार्ड को पाक गेंदबाज ने भड़काया, फिर कप्तान ने 7 गेंद पर 30 रन बनाकर दिलाई शानदार जीत

इंग्लैंड ने खेले हैं 103 टेस्ट

इंग्लिश टीम के ओवल मैदान की रिकॉर्ड की बात करें तो उसने यहां कुल 103 टेस्ट खेले हैं. 43 में जीत हासिल की है, जबकि टीम को 22 टेस्ट में हार मिली है. 37 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं. वहीं टीम इंडिया ने अब तक इस मैदान पर 13 टेस्ट खेले हैं. एक में जीत हासिल की है, जबकि 5 टेस्ट में हार मिली है. 7 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं. ऐसे में टीम इंडिया स्पिन गेंदबाजों के दम पर यहां अपना रिकॉर्ड सुधारना चाहेगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here