रवि शास्त्री टीम इंडिया छोड़ने के बाद क्या करेंगे? सौरव गांगुली पर भी कह दी बड़ी बात

0
30

[ad_1]

नई दिल्ली. रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का टीम इंडिया (Team India) के हेड कोच के तौर पर कार्यकाल इस यूएई में होने वाले टी20 विश्व कप (ICC T20 World Cup) के बाद खत्म हो जाएगा. उन्होंने खुद बीसीसीआई (BCCI) को इस पद पर आगे ना बने रहने की बात कही है. उनके कोच रहते विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुवाई वाली टीम ने जीत की कई नईं इबारतें गढ़ीं. भारत लंबे वक्त तक टेस्ट में नंबर-1 रहा. ऑस्ट्रेलिया जैसी दिग्गज टीम को उसी के घर में 2 बार टेस्ट सीरीज हराई. 2019 विश्व कप का सेमीफाइनल खेले और पहली बार हुई विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में भी पहुंचे.

शास्त्री का बतौर कोच कार्यकाल नवंबर में खत्म हो रहा है. ऐस में टीम इंडिया से हटने के बाद वो क्या करेंगे. उन्होंने टाइम्स नाऊ को दिए खास इंटरव्यू में अपने भविष्य की योजनाओं को लेकर खुलासा किया. टीम इंडिया के हेड कोच ने कहा कि मैं अगले 45 दिनों का इंतजार कर रहा हूं. इससे ज्यादा मैं कुछ और नहीं सोच रहा हूं. मुझे उस पर ध्यान केंद्रित करने दें और जब समय आएगा, तो सभी को पता चल जाएगा कि शास्त्री जी आगे कहां जा रहे हैं.

शास्त्री दूसरी बार 2019 में भारत के कोच बने थे
भारतीय टीम के साथ शास्त्री का पहला कॉन्ट्रैक्ट 2019 में खत्म हुआ था. लेकिन उन्हें अगस्त 2019 में कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट सलाहकार समिति द्वारा मुख्य कोच के रूप में फिर से नियुक्त किया गया था. शास्त्री को दो साल का अनुबंध दिया गया था, जो इस साल टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो जाएगा.

शास्त्री ने गांगुली से अपने रिश्ते को लेकर बात की
इस इंटरव्यू में शास्त्री ने बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) से अपने रिश्तों और समीकरण को लेकर बात की. इस इंटरव्यू के दौरान 2007 में हुई उस बस घटना का भी जिक्र आया, जिसमें शास्त्री ने कथित तौर पर गांगुली को टीम बस में चढ़ने की अनुमति नहीं दी थी. क्योंकि वो देरी से पहुंचे थे.

शास्त्री और गांगुली के बीच बस में चढ़ने को लेकर हुआ था विवाद
इंटरव्यू में इस घटना के बारे में पूछे जाने पर शास्त्री ने कहा कि अगर कोई बस के लिए देर से आता है, तो बस चली जाएगी, कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह कौन है- उस दिन सौरव के साथ हुआ था. शास्त्री से यह भी पूछा गया कि क्या गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद इस घटना को लेकर आप दोनों के बीच किसी तरह की खटास रही, तो भारतीय क्रिकेट टीम के कोच ने कहा कि बिल्कुल नहीं.

जब वह(गांगुली) यहां इंग्लैंड में आए थे. तब भी मैंने उनसे बातचीत की थी. मैंने उन्हें क्रिकेट खेलते काफी देखा है. वास्तव में, गांगुली ने उसी टीम ने खेला है, जिसमें मैं (टाटा स्टील) था. मैं कप्तान के रूप में टाटा स्टील के लिए खेला और वह मेरे अधीन खेले थे. हम एक-दूसरे को काफी लंबे वक्त से जानते हैं.

IND vs ENG: तेज गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्णा टीम इंडिया में शामिल, चौथा टेस्ट कल से

यह भी पढ़ें: ICC Test Rankings: रोहित शर्मा ने कप्तान विराट कोहली को पीछे छोड़ा, जो रूट टॉप पर

शास्त्री ने आगे कहा कि मीडिया को इस तरह की कहानियां पसंद आती है. उन्हें यह भेलपूरी पसंद आती है और फिर इसमें मसाला लगाकर वो बताते हैं. मुझे भी इस तरह की कहानियां पसंद आती हैं. दरअसल, यह बस वाली घटना 2007 की है. तब गांगुली टीम इंडिया में खेल रहे थे और शास्त्री एक दौरे पर टीम के मैनेजर बनकर गए थे. जब गांगुली से इस एक इंटरव्यू में इस घटना के बारे में पूछा गया था तो उन्होंने यह कहते हुए इनकार कर दिया कि ऐसा कभी नहीं हुआ था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here