699 अंतरराष्ट्रीय विकेट लेने वाली ‘स्टेन गन’ थमी, डिविलियर्स और सहवाग ने बताया- सबसे बड़ा खिलाड़ी

0
33

[ad_1]

नई दिल्ली. दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाद डेल स्टेन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास (Dale Steyn Retirement) ले लिया. उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से भावुक पोस्ट शेयर कर दुनिया को इस फैसले की जानकारी दी. स्टेन ने 2 साल पहले टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा था. इसके अगले ही साल उन्हें दक्षिण अफ्रीका के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर कर दिया गया था. उन्हें पिछले साल होने वाले टी20 विश्व कप के लिए चुनी गई दक्षिण अफ्रीकी टीम में भी शामिल किया गया था. लेकिन कोरोना के कारण टूर्नामेंट रद्द कर दिया गया था. अब टी20 विश्व कप अक्टूबर-नवंबर में होना है. लेकिन उससे पहले ही दक्षिण अफ्रीका के लिए टेस्ट में सबसे अधिक 439 विकेट लेने वाले गेंदबाज ने संन्यास की घोषणा कर दी.

डेल स्टेन (Dale Steyn) ने अपनी वनडे और टेस्ट टीम की जर्सी की कुछ फोटो पोस्ट करते हुए एक नोट भी लिखा. उन्होंने लिखा कि 20 साल की ट्रेनिंग, मैच, यात्राएं, जीत, हार, भाईचारा, खुशियां. बहुत सी यादें हैं कहने के लिए. बहुत से चेहरे हैं, शुक्रिया अदा करने के लिए. आज मैं आधिकारिक तौर पर उस खेल से संन्यास ले रहा हूं जिसे मैं सबसे ज्यादा प्यार करता हूं.

सहवाग ने स्टेन को महान बताया
स्टेन के संन्यास का ऐलान करने के बाद ट्विटर पर उनके साथी खिलाड़ियों और विरोधियों ने भी उन्हें विदाई दी. इस तेज गेंदबाज के साथ लंबे वक्त तक ड्रेसिंग रूम शेयर करने वाले एबी डिविलियर्स ने लिखा कि महान खिलाड़ी, महान व्यक्ति, अद्भुत यादें!. आपने सही नोट पर खेल को छोड़ने का फैसला लिया. लेजेंड हमेशा के लिए!. पूर्व भारतीय ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने भी स्टेन के संन्यास पर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि आप आग थे, इस खेल ने जितने अच्छे खिलाड़ियों को देखा, उसमें से आप एक थे. शानदार विदाई.

स्टेन और डिविलियर्स ने एक साथ टेस्ट डेब्यू किया था
गेंद को सटीकता और रफ्तार से दोनों तरफ स्विंग कराने की काबिलियत ने ही स्टेन को दक्षिण अफ्रीका का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज बनाया. उनसे जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा है कि वो बचपन में स्केट बोर्डिंग के दीवाने थे. लेकिन प्रिटोरिया में शिफ्ट होने के बाद उनका झुकाव क्रिकेट की तरफ हो गया और आगे चलकर उन्होंने इसे ही अपना करियर बना लिया. इस तेज गेंदबाज ने सिर्फ 7 फर्स्ट क्लास मैच खेलने के बाद 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था. इंग्लैंड के खिलाफ इसी टेस्ट से दिग्गज बल्लेबाज एबी डिविलियर्स (AB De Villiers) ने भी अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज किया था.

स्टेन का आगाज बेहतर नहीं रहा और दक्षिण अफ्रीका के लिए कुछ टेस्ट खेलने के बाद वो टीम से बाहर हो गए. इसके बाद वो अपनी गेंदबाजी को निखारने के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने चले गए. इसके अलावा उन्होंने घरेलू क्रिकेट भी खेला.

Dale Steyn Retired: जूते खरीदने के नहीं थे पैसे, खदान में काम करते थे पिता, जानिए डेल स्टेन की कहानी

डेल स्टेन ने लिया संन्यास, कहा-20 साल की ट्रेनिंग और खुशियों के साथ खेल को कह रहा हूं अलविदा

स्टेन आईसीसी प्लेयर ऑफ द ईयर भी रहे थे
इस तेज गेंदबाज की 2006-07 में दोबारा दक्षिण अफ्रीकी टीम में वापसी हुई और फिर उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. वो 2008 में दक्षिण अफ्रीका की तरफ से सबसे तेज 100 टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज बने. उन्होंने 20 टेस्ट में यह कारनामा किया था. वो अपने करियर में चोट से लगातार जूझते रहे और इसी कारण से टीम से अंदर-बाहर होते रहे. उनका विश्व कप जीतने का सपना कभी पूरा नहीं हो पाया.

स्टेन ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 93 टेस्ट में 439 विकेट झटके. वो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज भी हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here