20 Years of Lajja: राजकुमार संतोषी समेत माधुरी, रेखा, मनीषा पर जब लटकने लगी थी गिरफ्तारी की तलवार!

0
16

[ad_1]

20 Years of Lajja: राजकुमार संतोषी (Rajkumar Santoshi)  के निर्देशन में बनी फिल्म ‘लज्जा’ (Lajja) 31 अगस्त 2001 में आई एक ऐसी फिल्म थी जिसमें भारतीय समाज में औरतों की दुर्दशा सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई गई थी. मल्टीस्टारर महिला प्रधान इस फिल्म में रेखा (Rekha) , माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit), मनीषा कोईराला, महिमा चौधरी के साथ अनिल कपूर, अजय देवगन और जैकी श्रॉफ ने कमाल की एक्टिंग की थी. राजकुमार संतोषी एक ऐसे फिल्म डायरेक्टर हैं जो सामाजिक संदेश के साथ मनोरंजन दिखाने में विश्वास रखते हैं. उनकी फिल्म चाहे ‘घायल’ हो या ‘दामिनी’ हो या ‘चाइना गेट’, जब सिनोमाघर में पर्दे पर दिखी तो दर्शकों को झिंझोड़ कर रख दिया. कुछ ऐसा ही उन्होंने 20 साल पहले ‘लज्जा’ बना कर किया था.

‘लज्जा’ बनाने की प्रेरणा अखबार की खबर से मिल
राजकुमार संतोषी ने मीडिया को दिए इंटरव्यू में बताया था कि ‘एक दिन उनकी नजर न्यूजपेपर में छपी एक खबर पर गई जिसमें उत्तर प्रदेश के कानपुर के पास एक गांव की 42 साल की महिला के बारे में था. खबर के मुताबिक उस महिला को 9 दिन बंदी बनाकर रखा गया था और बार-बार बलात्कार करने के बाद उसे जिंदा जला दिया गया था’. राजकुमार ने बताया था कि ‘एक तरफ हम विश्व सुंदरी प्रतियोगिता करवा रहे, नवरात्रि, दुर्गा पूजा, काली पूजा मना रहे हैं और वहीं दूसरी तरफ हमारे समाज में महिलाओं के साथ ऐसा दुर्व्यवहार किया जा रहा. बस यही मुझे क्लिक कर गया और मैंने इस मुद्दे पर फिल्म बनाने का फैसला कर लिया’.

(film poster)

‘लज्जा’ बनाने से पहले गांव भी गए थे राजकुमार संतोषी

राजकुमार ने जब फिल्म स्टार्स से कहानी के बारे में बताया तो सभी काम करने के लिए तुरंत तैयार हो गए. मैं अपने कैमरा पर्सन और आर्ट डायरेक्टर के साथ कानपुर के उस गांव में भी गया,लेकिन हैरानी की बात ये थी कि कोई इस मुद्दे पर बात नहीं करना चाहता था सभी चुप्पी साधे हुए थे. मृतक के परिजनों ने हमे पूरी घटना की जानकारी दी, जिसकी वजह से फिल्म की स्क्रिप्ट फाइनल हो पाई.

चार महिलाओं के दर्द की कहानी ‘लज्जा’

‘लज्जा’ में चार शॉर्ट स्टोरीज हैं. हर कहानी एक अलग जगह की है. कहानी कहीं की भी हो कमोबेश महिलाओं का दर्द एक जैसा ही है. ‘लज्जा’  में चार महिलाओं वैदेही, मैथिली, जानकी और रामदुलारी की कहानी है. इस फिल्म में वैदेही की भूमिका मनीषा कोइराला ने और मैथिली महिमा चौधरी, जानकी माधुरी दीक्षित तो रामदुलारी की भूमिका रेखा ने निभाई थी. लीड रोल में मनीषा कोईराला हैं,जो पूरी कहानी को नैरेट करती हैं. वह सभी महिला पात्रों से मिलती हैं और उनके दर्द और पीड़ा के बारे में बताती हैं.

(फोटो साभार:Movies N Memories/Twitter)

सभी के खिलाफ जारी हुआ था गिरफ्तारी वारंट

जब फिल्म बनी तो खूब कंट्रोवर्सी भी हुई. राजकुमार संतोषी ,मनीषा कोईराला, माधुरी दीक्षित समेत सभी कलाकारों की गिरफ्तारी की नौबत आ गई थी. कानपुर देहात की कोर्ट में सभी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था. दरअसल, प्रेम प्रसंग के चलते तीन हत्या हुई थी, इसी पर राजकुमार ने फिल्म बनाई जिस पर कहा गया कि मामला कोर्ट में चल रहा था ऐसे में फिल्म बनाना कोर्ट की अवमानना है. इसी आधार पर फिल्म के डायरेक्टर समेत सभी के खिलाफ उस समय के जज ने सभी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया था. फिल्म डायरेक्टर और स्टार्स हाईकोर्ट चले गए, वहां से स्टे मिल गया था.

ये भी पढ़िए-शाहरुख खान और ट्विंकल खन्ना की ‘बादशाह’ के 22 साल हुए पूरे, शूटिंग के दौरान एक्टर ने खाई थी लात

क्लासिक फिल्म ‘लज्जा’ बॉक्स ऑफिस पर सफल नहीं रही
हिंदी की क्लासिक फिल्म ‘लज्जा’ से पुरुषों के वर्चस्व और पितृसत्तामक समाज की दर्दनाक तस्वीर सामने आई थी. महिला प्रधान यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल नहीं रही थी, क्योंकि फिल्म की कहानी को पचा पाना आसान नहीं था. हालांकि फिल्म और कलाकारों को कई पुरस्कार मिले थे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here