महाराष्ट्र में सुस्त पड़ी कोरोना की रफ्तार, सीएम उद्धव ठाकरे बोले- तीसरी लहर से निपटने को तैयार

0
24

[ad_1]

Maharashtra Corona: महाराष्ट्र सरकार के प्रयासों के कारण कोरोना की दूसरी लहर सुस्त पड़ती जा रही है. संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए राज्य सरकार ने अभी से जोरदार तैयारियां शुरू कर दी हैं. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हाथों सोशल मीडिया के माध्यम से 200 टीकाकरण वाहनों का हस्तांतरण नागपुर और अमरावती विभाग के लिए किया गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की मौजूदा समय में कोई प्रभावकारी दवा नहीं होने के कारण वैक्सीन ढाल के रूप में काम कर रही है. आगामी दिनों में संभावित कोरोना‌ की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण करना जरूरी है. कोरोना की तीसरी लहर का मुकाबला करने के लिए हम पूरी तरह से तैयार हैं.

मनकापुर के विभागीय क्रीडा संकुल के प्रांगण में विदर्भ सहायता सोसायटी और महापारेषण के साझे में सद्भावना जीवनरथ के 200 टीकाकरण वाहनों को सौंपेने का कार्यक्रम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में सोशल मीडिया प्रणाली के माध्यम से किया गया था. इस अवसर पर मुख्यमंत्री मार्गदर्शन कर रहे थे. महापारेषण कंपनी की ओर से टीकाकरण मुहिम को प्रभावी रूप से चलाने के लिए 25 करोड़ रुपए सीएसआर निधि विदर्भ सहायता सोसायटी को उपलब्ध कराई गई है. इस राशि से विदर्भ के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को 200 टीकाकरण वाहन उपलब्ध कराए गए हैं. इन टीकाकरण वाहनों का हस्तांतरण राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात के हाथों किया गया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के साथ-साथ भारी बारिश और बाढ़ जैसे संकटों का सामना करते हुए लोगों की सुरक्षा को प्राथमिकता दी गई है. राज्य में 5 करोड़ से अधिक नागरिकों को कोरोना वैक्सीन की पहली और दूसरी खुराक दी जा चुकी है. एक दिन में 9 लाख से अधिक लोगों को खुराक दी गई है. केंद्र सरकार की ओर से जितनी अधिक खुराक मिलेगी उसके अनुसार सभी का टीकाकरण किया जाएगा. जो लोग टीकाकरण केंद्रों तक नहीं पहुंच सकते ऐसे नागरिकों को दो सौ टीकाकरण वाहन घर-घर जाकर टीका लगाने का काम करेंगे. टीकाकरण के लिए पूर्ण सहायता प्रदान की जाएगी और अधिक से अधिक नागरिकों को टीका लगाना आवश्यक है.

 ऊर्जा मंत्री डॉ. नितिन राऊत ने कहा कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर का सामना करते हुए स्वास्थ्य विभाग को ऑक्सीजन सहित आवश्यक मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराने को प्राथमिकता दी गई है. तीसरी लहर का सामना करते हुए टीकाकरण अति आवश्यक है. इसके चलते महापारेषण कंपनी की ओर से 25 करोड़ रुपए सीएसआर निधि के माध्यम से विदर्भ सहायता समिति को राशि उपलब्ध कराई गई है. इसके माध्यम से नागपुर और अमरावती विभाग की हर तहसीलों को दो-दो इस हिसाब से कुल 200 वाहन दिए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें:

Zydus Cadila’s Vaccine: देश को मिला DNA आधारित तीन खुराक वाला कोरोना टीका, जानें क्या बोले पीएम मोदी?

Sonia Gandhi Meeting: विपक्षी एकता के लिए सोनिया गांधी की अपील- अंतिम लक्ष्य 2024 लोकसभा चुनाव, मजबूरियों को किनारे कर एक साथ रणनीति बनानी होगी

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here