श्रीलंका में एक भी मैच नहीं हारेगी राहुल द्रविड़ की टीम इंडिया? जानिए क्यों

0
5


नई दिल्ली. भारतीय टीम अगले महीने श्रीलंका दौरे के लिए तैयार है. शिखर धवन की अगुवाई में 20 सदस्यीय भारतीय टीम जुलाई में श्रीलंका के खिलाफ तीन वनडे और तीन टी20मैचों की सीरीज खेलेगी. इस दौरे पर सबसे खास बात यह है कि राहुल द्रविड़ भारत के कोच होंगे. वनडे रैंकिंग में भारत की टीम तीसरे स्थान पर है जबकि श्रीलंका नौवें स्थान पर काबिज है. वहीं टी20 की बात करें तो भारत दूसरे नंबर तो श्रीलंका आठवें नंबर पर है. हालांकि श्रीलंका दौरे पर विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, रोहित शर्मा और ऋषभ पंत जैसे दिग्गज खिलाड़ी नहीं होंगे. बता दें कि इसी दौरान विराट कोहली की अगुवाई में भारत की मजबूत टीम इंग्लैंड दौरे पर पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेल रही होगी. इन खिलाड़ियों के नहीं होने के बावजूद भारत की टीम बेहद मजबूत है.

राहुल द्रविड़ होंगे एक्स फैक्टर

वर्तमान में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के प्रमुख द्रविड़ भारत ‘ए’ और अंडर 19 टीमों के कोच रह चुके हैं. सीनियर टीम के साथ द्रविड़ दूसरी बार जुड़ने जा रहे हैं. इससे पहले वह साल 2014 में इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम के बल्लेबाजी सलाहकार बनकर गए थे. पिछले कुछ सालों में भारत की तरफ से डेब्यू करने वाले ज्यादातर खिलाड़ी को द्रविड़ ने ही तराशा है. राहुल द्रविड़ ने मार्गदर्शन में ही पृथ्वी शॉ और देवदत्त पडिक्कल, मयंक अग्रवाल, ईशान किशन जैसे खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम में जगह बना पाए. इसके अलावा द्रविड़ ने सैमसन को आईपीएल में पांव जमाने में मदद की थी. ऐसे में सभी भारतीय खिलाड़ियों का तालमेल द्रविड़ के साथ बेहद अच्छा है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 509 मैचों का अनुभव रखने वाले द्रविड़ ने अपने करियर में 24 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं.

धवन की कप्तानी पड़ेगी भारी35 वर्षीय धवन भारत के वनडे और टी20 टीम के नियमित सदस्य है. वर्तमान में वनडे रैंकिंग में 18वें नंबर पर काबिज धवन के पास 142 वनडे का अनुभव और उन्होंने 17 शतक की बदौलत 5977 रन बनाए हैं. धवन के साथ ओपनिंग के लिए भारत के पास पडिक्कल और पृथ्वी शॉ का विकल्प उपलब्ध है. दोनों युवा विस्फोटक बल्लेबाजी करते हैं. वहीं अगर श्रीलंका की बात करें तो उनके कप्तान कुसल परेरा के पास 104 वनडे मैचों का अनुभव है. परेरा का रिकॉर्ड शिखर धवन से कोसों दूर है. दोनों बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं. जहां धवन का औसत वनडे में 45 से ज्यादा का है वही परेरा सिर्फ 31 की औसत से रन बनाते हैं. धवन के पास 17 सालों का अनुभव है और उन्होंने अंडर-19 वर्ल्ड कप 2004 में अपना नाम कमाया था.

भुवनेश्वर करेंगे तेज गेंदबाजी की अगुवाई

वनडे रैंकिंग में 13वें नंबर पर काबिज भुवी भारतीय गेंदबाजी की अगुवाई करेंगे. उन्हें टीम का उप कप्तान भी बनाया गया है. भुवी ने 117 वनडे में 138 और 48 टी20 मैचों में 45 विकेट लिए हैं. उनका साथ देने के लिए टीम में दीपक चाहर और नवदीप सैनी होंगे. ये दोनों खिलाड़ी भारत के लिए डेब्यू कर चुके हैं. वहीं चेतन सकारिया को पहली बार मौका मिला.

चहल-कुलदीप की जोड़ी फिर मचाएगी धमाल

एक समय कुलदीप चहल और युजवेंद्र चहल की जोड़ी ने वनडे और टी20 में धमाल मचा दिया था. चहल और कुलदीप दोनों वनडे और टी20 मिलाकर अब तक 295 विकेट चटकाया है. द्रविड़ मुंबई के गेंदबाज राहुल चाहर को मौका दे सकते हैं जिन्होंने आईपीएल में जबरदस्त गेंदबाजी की है.

हार्दिक पंड्या जैसा खतरनाक ऑलराउंडर टीम के पास

हार्दिक पंड्या वर्तमान में दुनिया के बेहतरीन ऑलराउंडर्स में शुमार हैं. पंड्या भारत के वनडे और टी20 टीम के नियमित सदस्य हैं. इस बार उनका साथ देने के लिए क्रुणाल पंड्या भी हैं जिन्होंने अपने डेब्यू टी20 में विस्फोटक पारी खेली थी.

यह भी पढ़ें:

IND vs SL: कौन हैं सिमरजीत सिंह, जो टीम इंडिया के साथ जाएंगे श्रीलंका?

On This Day: 12 रन पर ऑलआउट हो गई थी दिग्‍गजों से भरी टीम, मगर दूसरी टीम को जीतने नहीं दिया

इसके अलावा भारत के पास सूर्यकुमार यादव, इशान किशन जैसे खतरनाक बल्लेबाज हैं. मनीष पांडे भी मध्यक्रम में भरोसेमंद बल्लेबाज हैं. अगर श्रीलंका की बात की जाए तो उनकी भी टीम में ज्यादातर नए खिलाड़ी हैं. बोर्ड के साथ फिलहाल श्रीलंकन खिलाड़ियों का टकराव चल रहा है. एंजोलो मैथ्यूज और दिनेश चांदीमल जैसे अनुभवी खिलाड़ियों को सफेल बॉल क्रिकेट से बाहर का रास्ता दिखा गया है. ऐसे में भारतीय टीम का पलड़ा हर तरफ से भारी है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here