मसालेदार खाना खाकर भी बढ़ाई जा सकती है बीमारियों से लड़ने की ताकत, जानिए कैसे

0
30


इंसानों कई सदियों से खान-पान में मसालों का उपयोग (Use of Spices) करता आ रहा है और यदि भारत की बात की जाए तो हल्दी, मिर्च, जीरा और अन्य गरम मसालों के बगैर यहां तो जायकेदार पकवानों की कल्पना भी नहीं की जा सकती है. भारत में दर्जन भर से ज्यादा ऐसे मसाले हैं, जो रोज खान-पान में उपयोग में लाए जाते हैं. ये मसाले कहीं न कहीं सेहत (Health) के लिए अप्रत्यक्ष रूप से औषधि का काम करते हैं और शरीर का इम्यून सिस्टम (Immune System) बेहतर करने में मदद करते हैं. अक्सर कहा जाता है कि ज्यादा मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए, लेकिन संतुलित मात्रा में कभी-कभी मसालेदार खाना खाया जाए तो यह शरीर के लिए फायदेमंद होता है, जानिए किस तरह यह हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है-

लाल मिर्च खाने के ये हैं फायदे

myUpchar के अनुसार मसालेदार खाने में सबसे ज्यादा इस्तेमाल लाल मिर्च का होता है. इसमें कैपसाइसिन तत्व प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. कैपसाइसिन शरीर में तापमान का तालमेल बैठाने वाली कोशिकाओं के संपर्क में आता है और दिमाग को गर्मी महसूस करने की सूचना देता है. कुछ रिसर्च में यह भी दावा किया गया है कि कैपसाइसिन इंसान को लंबे समय तक जीवित रखने में सहायक है.ये भी पढ़ें – हाइपरटेंशन का सेक्स लाइफ पर पड़ सकता है ये असर, जानें क्‍या रखें एहतियात

2019 में इटली में हुए एक शोध में खुलासा हुआ कि जो लोग सप्ताह में चार दिन लाल मिर्च से बना खाना खाते हैं, उनमें समय से पहले मौत का खतरा कम होता है. ऐसा ही एक शोध 2015 में चीन में भी किया गया था. रिसर्च में पाया गया कि जो लोग सप्ताह में एक दिन मिर्च खाते हैं, उनकी तुलना में हर रोज मिर्च का सेवन करने वालों की उम्र ज्यादा होती है. मिर्च के सेवन से कैंसर, दिल की बीमारियां और सांस संबंधी बीमारियों का जोखिम भी कम हो जाता है.

ज्यादा मिर्च खाने से हो सकता है नुकसान

कतर यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर जुमिन शी का मानना है कि मिर्च मोटापे की शिकायत को दूर कर सकता है साथ ही यह हाई ब्लड प्रेशर वालों के लिए भी सहायक है. जो लोग मिर्च का सेवन ज्यादा करते हैं उनका दिमाग बहुत तेज काम नहीं करता है. साथ ही यह याददाश्त को भी खराब खराब कर सकता है. शी का कहना है कि जो लोग हर रोज 50 ग्राम मिर्च खाते हैं, उनके लिए यह खतरा और भी ज्यादा है.

हल्दी के अनगिनत गुण शरीर के लिए फायदेमंद

myUpchar के अनुसार हल्दी में क्योरक्यूमिन नाम का तत्व बड़ी मात्रा में पाया जाता है. इसके छोटे-छोटे अणु जलन, तनाव, दर्द के साथ शरीर के अन्य तकलीफें दूर करने में सहायक होते हैं. लैब में कई अध्ययनों से पता चला है कि क्योरक्यूमिन में कैंसर जैसी घातक बीमारी से लड़ने की क्षमता होती है. क्योरक्यूमिन पानी में आसानी से नहीं घुलती है यानी हम ज्यादा हल्दी भी खाते हैं तो इसका पूरा फायदा शरीर को नहीं मिलता है.

ये भी पढ़ें – बादाम से कम फायदेमंद नहीं है चना, रोज खाने से होते हैं ये फायदे

दवा का विकल्प नहीं है मसालेदार खाना

रिसर्चर कैथलीन नेल्सन के एक शोध में खुलासा हुआ है कि जब हल्दी खाने में अन्य मसालों के साथ पकती है तो उसके रासायनिक गुण बदल जाते हैं. हल्दी का ज्यादा इस्तेमाल नुकसानदायक तो नहीं है, लेकिन इसे एक दवा के रूप में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. हालांकि दूसरी बात यह भी है कि हल्दी या अन्य मसालों पर जो भी शोध हुए हैं, वे सभी लैब में हुए हैं इसलिए इनके गुण पूर्णरूप से सामने नहीं आए हैं. बता दें, शरीर को अनुकूल वातावरण मिलने पर ही इन मसालों के गुण फायदेमंद होते हैं. चूंकि भारत में हजारों सालों से आयुर्वेदिक औषधि के रूप में कुछ मसालों का इस्तेमाल हो रहा है, इसलिए वैज्ञानिक अध्ययनों को भी पूर्ण नहीं कहा जा सकता है.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, मसालेदार खाने के फायदे और नुकसान पढ़ें।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here