संजय राउत की पत्नी से आज ED करेगी पूछताछ, 55 लाख के लोन को लेकर होंगे सवाल-जवाब

0
19


मुंबई: शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पीएमसी बैंक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए आज सुबह 10:30 बजे तलब किया है. हालांकि वर्षा राउत एजेंसी के सामने पेश होंगी या नहीं इसको लेकर अभी जानकारी सामने नहीं आई है. बता दें कि वर्षा राउत को जांच एजेंसी इससे पहले भी दो बार समन भेज चुकी है, लेकिन वो स्वास्थ्य आधार पर एजेंसी के समक्ष पेश नहीं हुईं.

क्या है मामला?

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला एचडीआईएल से संबंधित है. एचडीआईएल के वाधवा बंधु को पीएमसी बैंक घोटाले में गिरफ्तार किया गया था. वाधवा परिवार ने करोड़ों रुपये का लोन बैंक से लिया और चुकाने में नाकाम रहे. वाधवा बंधुओं के करीबी माने जाते हैं प्रवीन राउत, जो संजय राउत के भी करीबी दोस्तों में से एक हैं. प्रवीण राउत जो वाधवा बंधुओं के करीबी हैं और संजय राउत के भी दोस्त हैं, उनकी पत्नी माधुरी के अकाउंट से करीब 55 लाख रुपये संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत के अकाउंट में ट्रांसफर किए गए.

अब ईडी वर्षा राउत से यही जानना चाहती है कि उनके अकाउंट में ये पैसे क्यों ट्रांसफर किए गए. यही वजह है कि वर्षा राउत को ईडी ने समन किया है. संजय राउत ने 2016 में अपने राज्यसभा चुनाव के वक्त जो शपथ पत्र दिया था, उसमें भी माधुरी राउत से वर्षा राउत के अकाउंट में 55 लाख रुपये का लोन लेने का जिक्र मिलता है.

मुंबई से करीब 125 किलोमीटर दूर अलीबाग के किहिम बीच के किनारे राउत परिवार ने संपत्ति खरीदी थी. किहिम के समुद्री किनारे से लगभग 600 मीटर दूरी पर नॉन एग्रीकल्चर लैंड के 10 प्लॉट खरीदे गए. इस जमीन का मालिकाना हक संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत और स्वप्ना पाटकर के नाम पर है.

इसी साल प्रवीण राउत को किया गया था गिरफ्तार

वर्षा राउत का नाम जिस प्रवीण राउत से जोड़ा जा रहा है, उसे मुंबई पुलिस ने इसी साल फरवरी महीने में अनेक आपराधिक धाराओं के तहत गिरफ्तार किया था. अब ईडी जानना चाहती है कि प्रवीण राउत की तरफ से वर्षा राउत को 55 लाख रुपये क्यों और किन हालातों में दिए गए थे. ईडी सूत्रों के मुताबिक इस बार समन पर पेश ना होने पर ईडी वर्षा के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई भी कर सकता है.

ईडी ने पूछताछ के लिए की है पूरी तैयारी 

ईडी ने वर्षा राउत से पूछताछ के लिए पूरी तैयारी भी कर ली है. सूत्रों के मुताबिक ईडी जानना चाहता है कि 55 लाख रुपये की रकम दिए जाने का आधार क्या था, क्या इसके लिए ब्याज लिया जाना था? यदि हां तो कितना? ये पैसा कब लौटना था और क्या इसकी कोई किश्त चुकाई गई? पैसे देने का मकसद केवल लोन था या कुछ और? संजय राउत परिवार से ऐसी क्या नजदीकियां थीं, जिसके चलते लोन दिया गया? क्या यह अनसिक्योर्ड था?

फिलहाल इस मामले मे अब संजय राऊत भी खुल कर सामने आ गए हैं और दावा किया जा रहा है कि यह पैसा लोन के तौर पर संजय राउत द्वारा अधिकारिक तौर पर दिखाया जा चुका है.

ये भी पढ़ें:

कोरोना वैक्सीन देने की व्यवस्था का रिहर्सल शुरू, टीकाकरण से पहले चार राज्यों में किया गया ड्राई रन

नए साल के मौके पर दिवंगत अभिनेता Irfan Khan आखिरी बार नज़र आएंगे बड़े पर्दे पर, रिलीज हुआ पोस्टर



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here