सलमान खान की आवाज हुआ करते थे एसपी बालासुब्रमण्यम, बॉलीवुड को दिए कई Superhit Songs

0
41


बाला साहब ने तेलुगू भाषा में अपना पहला गाना गाया था.

एस. पी बालासुब्रह्मण्यम (SP Balasubrahmanyam) को सलमान खान (Salman Khan) की आवाज के रूप में भी जाना जाता था. उन्होंने सलमान के कई हिट गाने गाए, जिनको लोग आज भी गुनगुना पसंद करते हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 25, 2020, 2:42 PM IST

मुंबई. अपनी मखमली आवाज से लोगों का दिल धड़काने वाले एस. पी बालासुब्रह्मण्यम (SP Balasubrahmanyam dies) दुनिया को अलविदा कह गए. 74 साल के एस. पी बालासुब्रह्मण्यम ने आज दोपहर करीब 1 बजकर 5 मिनट पर आखिरी सांस ली. एस. पी बालासुब्रह्मण्यम ने हिंदी फिल्मों की गायिकी में भी अपनी एक अलग पहचान बनाई. बॉलीवुड (Bollywood) से टॉलीवुड (Tollywood) तक सभी एक महान गायक के निधन की खबर से शोक में हैं. बालासुब्रमण्यम को सलमान खान (Salman Khan) की आवाज के रूप में भी जाना जाता था. उन्होंने सलमान के कई हिट गाने गाए, जिनको लोग आज भी गुनगुना पसंद करते हैं.

सलमान खान (Salman Khan) और भाग्यश्री (Bhagyashree) स्टारर की सुपरहिट फिल्म ‘मैंने प्यार किया (Maine Pyar Kiya )’ के लिए सभी गाने एसपी बालासुब्रह्मण्यम (SP Balasubrahmanyam) ने गाये, जो सुपरडुपर हिट साबित हुए. उसके बाद उन्होंने सलमान के करियर के शुरुआती दिनों के सभी गाने गाये और कई सालों तक सलमान खान की आवाज के तौर पर भी जाना जाता रहा.

इसके अलावा कई ऐसे गाने हैं, जिनको उन्होंने अपनी आवाज दी. बाला साहब ने तेलुगू भाषा में अपना पहला गाना गाया था. इसके बाद उन्होंने कन्नड़ और फिर हिंदी फिल्मों के गानों के लिए अपनी आवाज दी. बॉलीवुड में एस.पी. बालासुब्रमण्यम ‘मैंने प्यार किया’, ‘हम आपके हैं कौन’, ‘अंधा कानून’, ‘साजन’, ‘100 डेज’, ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ और ‘अंगार’ जैसी फिल्मों में अपना आवाज दे चुके थे.

एस.पी. बालासुब्रमण्यम का जन्म नेल्लूर के तेलुगू परिवार में हुआ था और उनके पिता एस.पी. सम्बामूर्ति एक हरिकथा आर्टिस्ट थे. एस.पी. बालासुब्रमण्यम प्लेबैक सिंगर के अलावा म्यूजिक डायरेक्टर, एक्टर, डबिंग आर्टिस्ट और फिल्म प्रोड्यूसर भी रहे थे.

एस. पी बालासुब्रह्मण्यम का पूरा नाम श्रीपति पंडितराध्युला बालासुब्रमण्यम है. बालू के उपनाम से मशहूर एसपी 16 भारतीय भाषाओं में 40 हजार से ज्यादा गाने रिकॉर्ड किए थे. साल 2001 में उन्हें पद्मश्री और साल 2011 में उन्हें पद्म भूषण अवॉर्ड से नवाजा गया था. उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी दर्ज है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here