IPL के जरिए पैसे कमाने पर सख्त हुआ गूगल! नहीं देगा सट्टेबाजी की अनुमति

0
32


गूगल प्ले स्टोर

गूगल प्ले स्टोर ने आईपीएल शुरू होने से ठीक पहले साफ कर दिया है कि वो ऑनलाइन कैसिनो की अनुमति नहीं देता है. कंपनी ने कहा है कि खेलों में सट्टेबाजी की सुविधा देने वाले किसी भी अनियमित जुआ ऐप का समर्थन नहीं करेगा.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 18, 2020, 10:43 PM IST

नई दिल्ली. गूगल (Google) ने शुक्रवार को कहा कि वह खेलों में सट्टेबाजी को बढ़ावा देने वाले ऐप की इजाजत नहीं देता है और ऐसे ऐप को गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) से हटा दिया जाएगा. भारत में आईपीएल जैसे प्रमुख खेल आयोजनों से पहले इस तरह के ऐप बड़ी संख्या में लॉन्च किए जाते हैं. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का नवीनतम सत्र 19 सितंबर से संयुक्त अरब अमीरात में शुरू होने वाला है.

गूगल ने क्या कहा
गूगल ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, ‘‘हम ऑनलाइन कैसिनो की अनुमति नहीं देते हैं या खेलों में सट्टेबाजी की सुविधा देने वाले किसी भी अनियमित जुआ ऐप का समर्थन नहीं करते हैं. इसमें वे ऐप शामिल हैं जो ग्राहकों को किसी ऐसी बाहरी वेबसाइट पर जाने के लिए प्रेरित करते हैं, जो धनराशि लेकर खेलों में पैसा या नकद पुरस्कार जीतने का मौका देती है. यह हमारी नीतियों का उल्लंघन है.’’

यह भी पढ़ें: Paytm is Back: गूगल प्ले स्टोर पर वापस आया पेटीएम, लेकिन अब ऐप में हुआ ये बदलावब्लॉग पोस्ट में कहा गया है कि ये नीतियां उपयोगकर्ताओं को संभावित नुकसान से बचाने के लिए हैं. हालांकि, गूगल ने यह साफ नहीं किया है कि क्या इस आधार पर किसी ऐप को हटाया गया है या नहीं.

नीतियों के उल्लंघन पर डेवलपर को बताता है गूगल
गूगल ने यह भी कहा कि जब कोई ऐप इन नीतियों का उल्लंघन करता है, तो उसके डेवलपर को इस बारे में सूचित किया जाता है, और जब तक डेवलपर ऐप को नियमों के अनुरूप नहीं बनाता है, उसे तब तक गूगल प्ले स्टोर से हटा दिया जाता है.

यह भी पढ़ें: TikTok और WeChat पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी में अमेरिकी सरकार, बंद होंगी कुछ सर्विसेज

गंभीर कार्रवाई कर सकता है गूगल
एंड्रॉइड सुरक्षा एवं गोपनीयता के उत्पाद उपाध्यक्ष सुजान फ्रे द्वारा पोस्ट किए गए इस ब्लॉग में कहा गया है कि ऐसे मामले जहां नीतियों का बार-बार उल्लंघन किया जाता है, गूगल अधिक गंभीर कार्रवाई कर सकती है, जिसमें डेवलपर के खातों को खत्म करना भी शामिल है. उन्होंने कहा कि ये नीतियां सभी डेवलपर्स पर समान रूप से लागू की जाती हैं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here